पड़ोसन पूजा मेरे लंड की दीवानी

मेरे सभी प्यारे दोस्तो आपका मैं आज अपनी पहली कहानी मे सावगत करता हूँ. ये कहानी मेरे लाइफ के एक सब से मस्त किससे से जुड़ी हुई है, इसलिए ये एक सच्ची कहानी है. मुझे उमीद है आपको मेरी ये कहानी पसंद आएगी.
तो फिर चलिए कहानी शुरू करते है.
ये बात आज से 3 साल पहले की है. जब मेरी शादी रेणु से हुई तो मैं काफ़ी खुश था. क्योकि शादी के बाद तो वो चूतिया ही लकड़ा होता है, जो खुश नही होता. पर तभी कुछ दिन बाद मेरे सामने रहने वाले भैया ने भी शादी कर ली, और वो भी वाइफ घर ले कर आ गये.

हम दोनो की शादी लगभग साथ ही हुई थी. हमारे मोहल्ले मे एक साथ दो नयी जवान लड़किया आ गयी थी. वो दोनो जल्दी ही एक अच्छी फ्रेंड बन गयी. पर दोस्तो सच कहूँ तो मैने जब अपने भैया की वाइफ को देखा तो मैं उपर से लेकर नीचे तक पूरा जल गया.

क्योकि उसकी पूजा के आगे मेरी रेणु कुछ भी नही थी. पूजा एक बड़े शहर की लड़की थी, इसलिए वो मॉडर्न थी. वो हमेशा घर पर जीन्स टॉप डालती थी. मैं उसके फिगर का दीवाना हो गया था. उसके बाहर निकलते बूब्स देख कर, मानो मुझे ऐसा लगता था की वो मुझे चूसने के लिए बुला रहे थे.

जब भी मैं उसे देखता था, तभी मेरा मन उसे चोदने का होने लगता था. थोड़े टाइम बाद मेरी भी उसके साथ बोल चाल होशुरू हो गयी. मैं उसे भाभी कहता था. जब भी मैं उसके साथ बात करता था, मेरा ध्यान हर टाइम उसके जिस्म पर ही होता था.

मैं अपने मन मे सोचता था की इस चूतिए को कैसे ये परी मिल गई. खैर ऐसे ही धीरे धीरे दो साल निकल गये, अभी तक मुझे पूजा के साथ मस्ती करने का मौका तक नही मिला था. मैं एक ऐसे अच्छे मोके की तलाश मे था, जिस मौके मे मैं उसे चोद कर हमेशा के लिए अपना बना लू.

देखो फिर भगवान ने एक दिन मेरी सुन ही ली. मेरी वाइफ रेणु कुछ दीनो के लिए अपने घर गयी हुई थी. मैं घर पर अकेला था, इसलिए मैने अपनी नाइट शिफ्ट करा रखी थी. ताकि मैं रात को तंग ना हो जाउ, क्योकि दिन तो कट ही जाता है.

मैं सुबह 8 बजे वापिस अपने घर नाइट शिफ्ट करके आ रा था. जब मैं घर के बाहर आया तो मैने देखा पूजा भाभी अपने पति को बाइ बाइ कर रही थी. मैने भी भैया को हेलो कर दिया, भाईया की शहर मे एक शॉप है. इसलिए वो सुबह 8 बजे ही घर से निकल जाते है.

पूजा भाभी को देख कर मैं थोड़ा सा मुस्कुरा दिया, भाभी मुझे देख कर मुस्कुरा दी. फिर मैं अपने घर मे जाने लगा पर तभी पूजा भाभी ने मुझे पीछे से आवाज़ मारी. मैं उनकी आवाज़ सुन कर पीछे मुड़ा और भाभी मुझसे बोली.

पूजा – भाईया मेरे कंप्यूटर मे नेट नही चल रहा है. क्या मैं तुम्हारा लॅपटॉप यूज़ कर सकती हूँ. मुझे अर्जेंट मेल सेंड करनी है.

मैं – हा भाभी क्यो न्ही आपका ही लॅपटॉप है. प्लीज़ जब मर्ज़ी आकर यूज़ कर लेना.

पूजा – जब मर्ज़ी क्या चलो अभी चलते है.

मैं – हा भाभी चलो.

फिर भाभी मेरे साथ मेरे घर मे आ गयी, मैने अपना लॅपटॉप अपने बेडरूम मे ही रखा हुआ था. पूरा घर खराब हुआ था, शराब की बोटले इधर उधर पड़ी हुई थी. भाभी बेड पर बैठ गयी और मैने उन्हे लॅपटॉप दे दिया.

पर मैं ये भूल गया था की कल ड्यूटी पर जाने से पहले मैने लॅपटॉप पर ब्लू मूवी की साइट्स ओपन करी हुई थी. जेसे ही भाभी ने लॅपटॉप ओन्न किया उसके सामने वो सारी ब्लू मूवीस चलने लग गयी. कुछ देर बाद ये सब देख कर भाभी बोली.

भाभी – अरे भाईया प्लीज़ इस साइट का लिंक मुझे सेंड कर देना.

मैं – सॉरी भाभी मैं इसे क्लोज़ करना भूल गया था. पर वैसे आपको साइट का लिंक क्यो चाहिए भाभी.

भाभी – अरे बस रहने दो तुम, मेरा काम हो गया है मैं चलती हूँ.

मैं – नही भाभी प्लीज़ बताओ आख़िर क्या बात है.

भाभी – अरे मैं ये इस लिए माँग रही हूँ. ताकि तेरे भैया को ये सब दिखा सकु. क्योकि वो ज़रा भी सेक्स नही करते, शॉप की टेन्षन उन्हे बहुत रहती है. इसलिए उनकी छोटी सी लुली मुझे चोद ही नही पाती.

ये कह कर वो जाने लगी, मुझसे ये सब देखा नही गया. मैने झट से अपनी पेंट और अंडरवेर उतार कर अपना लंड बाहर निकाल कर भाभी के सामने कर दिया. भाभी ने जब मेरा लंड देखा तो वो मेरे लंड को देखती ही रह गयी. फिर वो भाग कर मेरे पास आई और मेरे मूह पर थप्पड़ मार कर बोली.

भाभी – कमिने आज मेरी शादी को दो साल हो गये है. और आज मैं पहली बार तेरे घर आई हूँ और तू आज मुझे अपना लंड दिखा रहा है. कुत्ते तूने इतनी देर क्यो कर दी. मैं इसके लिए कब से तरस रही हूँ.

ये कहने के बाद उसने मेरा लंड अपने हाथ मे पकड़ा और मेरे होंठो पर अपने होंठ रख कर ज़ोर ज़ोर से मेरे होंठो को वो चूसने लग गयी. ऐसी गरम औरत आज तक मैने नही देखी थी. उसके एक टच से मेरा लंड और जिस्म गरम हो गया था.

पूजा इस टाइम पूरी नँयी दुल्हन की तरह लग रही थी. फिर मैं उसे दीवार से लगा दिया और उस के होंठो को पागलो की तरह चूसने और चूमने लग गया. उसके होंठो मे से मीठा रस्स चूस चूस कर पी रा था. कसम से उसके होंठो को चूसने मे मुझे बहुत मज़ा आ रा था.

मेरे दोनो हाथ उसके बूब्स पर चल रहे थे, और पूजा भाभी का हाथ मेरे लंड पर था. वो मेरे लंड मसल मसल कर तन्ना रही थी. मैने उसके मूह से गर्दन तक हर जगह किस कर ली थी. उसका मस्त चेहरा चूमने मे बहुत मज़ा आ रा था.

फिर मैने उसके दोनो बूब्स कस्स कर पकड़ लिए और ज़ोर ज़ोर से मसल्ने लग गया. पूजा के मूह से आहह आहह की मस्त आवाज़ें निकालने लग गयी थी. उसका पूरा जिस्म आग की तरह तप रहा था.

फिर मैं उसका टॉप मैने उतार कर फेंक दिया. अब वो मेरे सामने ब्लॅक ब्रा मे खड़ी थी. उसके गोरे गोरे बूब्स किसी मोती की तरह ब्लॅक ब्रा मे चमक रहे थे. कसम से उसके दोनो बूब्स देख कर मैं पागल सा हो गया. मैने उसके बूब्स पर टूट पड़ा.

मैने अपने दोनो हाथ उसकी कमर पर रखे और पीछे से उसकी ब्रा के हुक खोल दिए. हुक खुलते ही उसके करीब 34 के बूब्स उछाल कर मेरी गोद मे गिर गये. क्या कमाल का नज़ारा था. मैने उसके दोनो बूब्स को अपने हाथो मे थाम लिए.

फिर मैने एक बूब्स को अपने मूह मे भर लिया और उसके बूब्स को चूसने लग गया. उसके नरम और गरम बूब्स काफ़ी कमाल के लग रहे थे. मैने उसके दूसरे के निप्प्ल को अपने हाथ मे ले कर मसल रा था.

बहुत ही मजेदार काम चल रहा था. अब पूजा ने मेरा सिर अपने बूब्स मे दबाना शुरू कर दिया, उसके मूह से सिसकारियाँ रुकने का नाम तक नही ले रही थी. उसका जिस्म अब और भी गरम होने लग गया था.

मैने जल्दी जल्दी उसके दोनो बूब्स को पूरा अपनी जीब से चाटने लग गया. पूजा ने फिर से मेरा लंड पकड़ लिया और वो मेरे लंड से खेलने लग गयी. मेरा लंड अब पागल होने लग गया था. इसलिए मैने अपना एक हाथ उसके सिर पर रखा और उसे नीचे की और धक्का दिया.

पूजा मेरा इशारा झट से समझ गयी, वो तुरंत नीचे बैठ गयी. अब मेरा लंड उसके होंठो के सामने था. पूजा ने मेरा लंड अपने होंठो मे ले लिया और धीरे धीरे बड़े मस्त तरीके से मेरे लंड को अपने मूह मे लेने लग गयी. मेरा लंड कुछ ही देर मे 6 इंच तक उसके मूह मे चला गया.

फिर पूजा को शायद मज़ा आने लग गया, इसलिए वो पागलो की तरह मेरा लंड चूसने लग गयी. फिर करीब 15 मिनिट बाद मैने अपना लंड उसके मूह से बाहर निकाल दिया. उसके बाद मैने उसे अपनी गोद मे उठाया और बेड पर लेटा दिया.

मैने उसके पेट पर अपनी जीब चलानी शुरू कर दी, जिससे पूजा मस्त हो कर बेड पर तड़पने लगी. फिर मैने उसकी जीन्स उतार दी और उसकी सेक्सी ब्लॅक पेंटी को मैने अपने दांतो से पकड़ा और उसके जिस्म से अलग कर दिया.

उसकी चूत पर एक भी बाल नही था, और पूरी चूत पानी से भीगी हुई थी. मैने उसकी दोनो टाँगे खोली और बड़े प्यार से उसकी चूत को चूसने लग गया. उसकी चूत मे से पानी रुकने का नाम ही नही ले रा था. मैने उसकी चूत को अपनी जीब से चाटने मे लगा हुआ है.

मैं जब उसकी चुत को चाट रा था, तब पूजा बहुत तड़प रही थी. उसने मेरा सिर अपनी टाँगो से लॉक कर लिया. और नीचे से अपनी गांद को उठा उठा कर मुझसे अपनी चूत चटवाने लग गयी. कुछ ही देर मे उसकी चुत का सारा पानी एक ही बार मे निकल गया.

अब बारी थी लंड को उसकी चुत मे डालने की. इसलिए मैं खड़ा हुआ और उसकी गांद के नीचे मैने दो पिल्लो अच्छे से रख दिए. ताकि मेरा लंड अच्छे से उसकी चूत मे चला जाए. जब मैं उसकी चूत को चाट रा था, तभी मुझे पता चल गया था. की पूजा की चूत टाइट है.

इसलिए मैने पहले उसकी चूत और अपने लंड पर काफ़ी सारा थूक लगा लिया. फिर मैने अपना लंड उसकी चूत पर तोड़ा सा सेट किया. और उसके उपर जा कर मैने उसके होंठो को अपने होंठो मे ले लिया.

फिर मैने एक जोरदार धक्का मारा जिससे मेरा लंड उसकी चूत मे आधा चला गया. जिससे वो दर्द के मारे मेरे नीचे तड़पने लगी. वो अपनी टाँगे ज़ोर ज़ोर से पटक रही थी. मैने उसके दर्द की ज़रा भी परवाह नही करी.

और फिर एक और जोरदार धक्के से मैने अपना पूरा लंड उसकी चूत मे जमा कर उतार दिया. पूजा की आँखो मे आँसू आने लग गये, वो ज़ोर ज़ोर से चिल्ला रही थी. पर उसकी आवाज़ मेरे मूह मे ही दब कर रह गयी.

कुछ देर बाद पूजा थोड़ी शांत हुई और मैं अपने धक्को की स्पीड फुल कर दी. अब मैने उसके होंठो को अपने होंठो से आज़ाद कर दिया और ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लग गया. पूजा चुदाई मे मेरा पूरा साथ देते हुए बोली.

पूजा – और ज़ोर से चोदो मेरे राजा मेरी चूत को फाड़ कर रख दो, और ज़ोर से चोदो रूको मत.

पूजा नीचे से अपनी गांद उठा कर मेरा साथ दे रही थी. हम दोनो को चुदाई मे पूरा मज़ा आ रा था. करीब 40 मिनिट की टाके तोड़ चुदाई के बाद मैने अपने लंड का सारा पानी उसकी चुत मे ही निकाल दिया.

फिर हम दोनो सो गये, और उठ कर बाथरूम मे नहा कर वो अपने घर चली गयी. मैने देखा की पिल्लो उसकी चूत के खून से भरा हुआ है. ये देख कर मुस्कुरा दिया. और उस दिन के बाद मैने पूजा को बहुत बार चोदा और आज भी उसे चोदने के लिए जा रहा हूँ.

दोस्तो मुझे उमीद है, की आपको मेरी कहानी मे बहुत मज़ा आया होगा. तो देर किस बात की मुझे मेल करके बताए

Leave a Reply