पति ने चोदा पार्क मे

हेलो दोस्तों एक बार फिर मैं हाज़िर हू आप के कदमों में अपनी चुदाई का न्यू अड्वेंचर स्टोरी के साथ आइ होप आप ने मेरी पिछली स्टोरी ज़रूर एंजाय करी होंगी “मैं और मेरी चुदक्कड़ पत्नी” एंड “दोस्त के साथ वाइफ शेयरिंग” अपनी कहानी शुरू करने से पहले आप को में अपने बारे में बता डू.

मेरा नाम प्रिया है मैं एक हाउस वाइफ हू मेरा फिगर 36-28-36 है मेरी उमर 28 साल है. मेरी शादी को लगभग 8 साल हो चुके है. शादी से पहले मैने कभी सेक्स नही किया था.

शादी के बाद मुझे पता चला की चुदाई का असली मज़ा क्या होता है. चलो खैर अब में आती हू अपनी कहानी पर जो कुछ ही टाइम पुरानी बात है.

मैं और मेरे पति गौतम शुरू से ही खूब चुदाई पसंद करते थे हमने हर पोज़ में हर तरह का सेक्स किया है. डेली कमरे में सेक्स कर के बोर होने लगे तो एक दिन पति ने बोला क्यू ना कुछ एडवेंचर्स किया जाए.

मैं बोली हाँ मैं भी नॉर्मल सेक्स से बोर हो गयी हू बट करें तो क्या करें?

फिर गौतम बोले क्यू ना आउटर में सेक्स करें,,, मैं कहाँ? ? ? वो बोले क्यू ना घर के साइड वाले पार्क में.

मैं अरे नही कोई देख लेगा कैसे करेंगे वहाँ. तो वो बोले डोंट वरी वी विल प्लान फर्स्ट की कैसे करेंगा क्या क्या प्रिकॉशन लेंगे वगेरा वगेरा.

फिर हम प्लॅनिंग करने लगे की कैसे पार्क में सेक्स किया जाए वो भी बिना किसी की नज़रों में आए. फिर हम ने नेक्स्ट नाइट पार्क में जाने का डिसाइड किया जब सब लोग सो जाए.

फिर एस पर डिसाइडेड नेक्स्ट नाइट अपने बेबी को सुला कर अप्रॉक्स 12बजे जब हमें लगा सब मोहाले वालें सो गये है तो हम चुप चाप घर से निकल कर पार्क में चले गये.

उन दीनो मून की रोशनी भी बहुत कम थी लगभग ना के बराबर जिसकी वजा से भि किसी के देखने के चान्स कम थे. हम पहले पार्क में नोर्मली घूमने लगे और चारों तरफ नज़रें घुमाने लगे जब हमें लगा की एवेरी थिंग इस फाइन फिर हम पार्क में एक पेड़ के पास गये और गौतम ने मुझे पेड़ पकड़ कर घोड़ी बनने को बोला

मैं पहले से ही प्री प्लान लोंग फ्रॉक डाल कर आई थी एंड उसके नीचे पैंटी नही डाली ताकि अपने को ज़्यादा कपड़े उतारने ना पड़े और अगर बाइ चान्स कोई आ जाए तो अपनी बॉडी कवर कर सकु. ये कहानी आप देसी कहानी डॉट नेट पर पढ़ रहे है.

जैसे ही में पेड़ पकड़ कर घोड़ी बनी तो गौतम ने मेरी स्कर्ट उप्पर कर दी और अपना ट्राउज़र नीचे कर दिया और अपना खड़ा लंड मेरी चूत में सिंगल झटके से घुसा दिया उउउउईईइ मा मेरी चीख निकल पड़ी.

फिर धीरे-धीरे गौतम ने अपनी स्पीड बड़ा दी और मुझे ज़ोर से चोदने लगा अहह बड़ा मज़ा आ रहा था खुले पार्क में आसमान के नीचे क्या चुदाई हो रही थी.

फिर गौतम ने मुझे सीधा किया और अपना लंड चूसने को बोला उसका ऑर्डर पाते ही में झट से घुटनो के बल बैठ गयी और उनका लंड मज़े से चूसने लगी, उनके लंड पर लगा मेरी चूत के पानी का स्वाद आ रहा था ओह्ह क्या स्वाद था.

फिर गौतम ने मुझे वहीं पार्क में लिटा दिया और मुझे ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगे, नरम नरम ग्रास पर जबरदस्त चुदाई होने लगी, फिर गौतम ने मेरा टॉप उप्पर कर दिया और मेरे गोल गोल बूब्स को चूसने लगा ओह माइ गॉड मैं तो पागल हुई जा रही थी.

गौतम के लंड का हर वाररर मेरी चूत के चिथड़े उड़ाने लगा था, अब तो पच पच की आवाज़ भी आने लगी थी बट अब इस बात का हम पर कोई असर नही पड़ रहा था ब्कोज़ अब हम पर सेक्स हेवी होने लगा था

फिर ना जाने गौतम के मन में क्या आया वो अपनी टी-शर्ट एंड ट्राउज़र उतारने लगे, मैं बोली ये क्या कर रहे हो अगर कोई आ गया तो, वो बोले कोई नही आएगा सब सो रहे है.

मैं अरे फिर भी बाइ चान्स कोई आ गया तो??? ट्राउज़र तो डाला रहने दो, फिर गौतम ने मुझे खड़ा किया और बोले अरे डार्लिंग क्यू टेंशन ले रही है कोई नही आता जस्ट एंजाय और मुझे गले लगा लिया और झापी पा कर मेरे गांड को रगड़ने लगे, मुझे स्मूच करने लगे.

फिर उन्होने मुझे मेरा टॉप उतारने को बोला, मैं नही गौतम कोई आ जाएगा, गौतम बोला डार्लिंग कोई नही आता प्लीज़ रिमूव यौर टॉप, मैं मना करने लगी.

फिर उन्होने मेरे टॉप खुद ही ज़बरदस्ती निकाल दिया और दूर फेंक दिया, मैं नही गौतम और अपना टॉप उठाने दौड़ी तभी उन्होने मुझे पीछे से पकड़ लिया, मैं शरम के मारे पानी पानी होने लगी और अपने बूब्स को अपने हैंड से छुपाने लगी.

फिर गौतम ने मेरे हैंड को मेरे बूब्स से अलग किया और मेरे बूब्स दबाने लगे, मैं गौतम छोड़ो मुझे कोई आ जाएगा प्लीज़, अरे कोई नही आएगा और एक झटके से मेरी लोंग स्कर्ट को नीचे कर दिया.

स्कर्ट के उतरते ही मैं झटके से नीचे बैठ गयी और बोली अरे गौतम नही प्लीज़ कोई आ जाएगा प्लीज़, बट वो कहाँ सुनने वाले थे उन्होने मुझे उठाया और पार्क के दूसरे किनारे ले गये और मुझे घोड़ी बना दिया, मैं मना करती रही और वो मुझे चोदने लग गयी,

कुछ देर चुदाई के बाद मेरी भी हिम्मत बड़ने लगी, मैं भी अब खुल कर चुदाई करने लगी, ओह्ह्ह माइ गॉड क्या मज़ा आ रहा था लगभग आधा घंटा हम न्यूड ही पार्क में चुदाई करते रहे फिर आख़िर कार हम दोनो का पानी निकल गया ऊऊह्ह्ह्ह माइ गॉड क्या रात थी वो.

कुछ देर पार्क में न्यूड ही लेटे रहे फिर अपने कपड़े उठा कर नूड ही घर पर आ गये. उस रात की चुदाई से हमारे होसले खुल गये थे फिर तो जब भी मन करता पार्क में चुदाई करते, आइ होप यू लाइक माइ दिस चुदाई ऑल्सो.

Leave a Reply