अंजान सेल्स गर्ल की चोदि चूत

मेरे सभी प्यारे दोस्तो को मेरे यानी रमण कुमार भल्ला की तरफ से आप सब को कोटि कोटि प्रणाम. मैं आज आप के लिए अपनी पहले सेक्स की कहानी ले कर आया हूँ. ये कहानी एक मस्त कहानी है, इस पढ़ कर आप एक बार ज़रूर मूठ मार ही लेंगे.

तो फिर अब देर किस बात की, चलिए कहानी शुरू करते है.

मैं सोनीपत का रहने वाला जवान लड़का हूँ. मुझे शुरू से ही जिम का शॉंक है, इसलिए मेरी बॉडी काफ़ी अच्छी बनी हुई है. मेरा लंड 6 इंच लंबा पर 2’5 इंच मोटा है.

मैने 20 साल की उम्र तक कभी सेक्स न्ही किया था. मैं अभी तक सिर्फ़ ब्लू मूवी देख कर अपना काम चला रा था. ये सब ठीक तो न्ही है, पर अब इसके इलावा मेरे पास और कोई चारा भी न्ही था.

क्योकि अभी तक मैने कोई लड़की पटाई न्ही थी. तो भला मैं केसे किसी की चूत मार सकता था. इसलिए मैं अपना काम फिलहाल मूठ मार कर चला रा था. पर मुझे इस बात का पूरा विश्वास था, की जिस दिन भी मुझे किसी लड़की चूत मिल गई. उसके तो मैं दोनो हाथ जुड़वा दूँगा.

आख़िर वो दिन आ ही गया, मैं अपने घर मे उस दिन अकेला था. मेरे घर वाले शाम से पहले किसी भी हालत मे न्ही आने वाले थे. क्योकि वो आउट ऑफ स्टेशन गये हुए थे. इसलिए कोई दिक्कत वाली बात न्ही थी, मैं अपने रूम मे बैठ कर ब्लू फिल्म बड़े आराम से देख रा था.

गर्मी का टाइम था, इसलिए मैं नंगा हो कर अपने रूम मे मूठ मार रहा था. पूरा माहोल गरम बना हुआ था, एक साइड मैं मूठ मार रा था. मेरे आगे ब्लू फिल्म मे एक लड़की 5 लड़को से चुद रही थी.

मेरे लंड का पानी बस निकलने ही वाला था. तभी बाहर डोर बेल बज गई, मेरे मूह से जोरदार गाली निकली की बेहेनचोद अब कों अपनी मा चुदवाने आ गया है. मैने जल्दबाज़ी मे अपना अंडरवेयर न्ही डाला था.

मैने सिर्फ़ अपनी निक्कर ही डाली थी, और मैं बाहर डोर ओपन करने के लिए चला गया. जेसे ही मैने डोर ओपन किया तो मैं बाहर देख कर हैरान रह गया, क्योकि मेरे घर के बाहर एक परी खड़ी थी.

वो सच मे एक खूबसूरत लड़की थी. जिसे देख कर मेरे दिल मे धक धक होने लग गई थी. पहले तो मैने उसे थोड़ी देर तक नीचे से उपेर तक देखा, मैं उसका दीवाना हो गया था. मेरा लंड पहले से ही खड़ा था, जिसने निकार मे तंबू बनाया हुआ था.

लड़की – हेलो मैं पूजा हूँ, क्या घर पर कोई लेडी है ?

मैं – क्यो आपको क्या काम है ?

लड़की – देखिए मैं एक सेलगर्ल हूँ. मेरे पास बहुत अच्छे कॉसमेटिक्स के कुछ समान है. जो मार्केट प्राइस से बहुत कम मे मिल रहे है.

मैने थोड़ी देर सोचा और बोला – हा है तो है, पर उन्हे आने मे 5 मिनिट लगेगें. आप चाहे तो अंदर बैठ कर उनके आने का वेट कर सकती हो.

लड़की – ठीक है.

उसकी नज़र मेरे लंड पर भी बार बार जा रही थी. फिर मैने उसे बिठाया और खुद अंदर पानी लेने चला गया. दोस्तो वो लड़की सच मे बहुत खूबसूरत थी, उसका फिगर कुछ था 34-28-36. मैं तो उसके बूब्स देख कर पागल होरा था.

उसने वाइट कलर की शर्ट और नीचे ब्लॅक कलर की जीन्स डाली हुई थी. जिसमे वो बहोट अच्छी लग रही थी. फिर मैं उसके पास पानी ले कर गया, जैसे ही पानी लेने लग गई. तभी मैने जान बुझ कर उसके उपर पानी गिरा दिया. उसकी शर्ट और जीन्स पूरी तरह से गीली हो गई थी.

मैं –आई यम रियली सॉरी वो ग्लास हाथ से फिसल गया.

लड़की – कोई बात न्ही, वॉशरूम काहा है ?

मैं – आप ऐसा करो मैं आपको अपनी बेहेन के कपड़े देता हूँ. आप वो डाल लो. थोड़ी देर मे ये सुख जाएगें.

लड़की – ठीक है.

फिर वो बाथरूम मे चली गई. उसकी शर्ट मे से अब उसके मोटे मोटे बूब्स सॉफ सॉफ दिख रहे थे. मैने उसे अपनी बेहेन का शॉर्ट टॉप और शॉर्ट स्कर्ट डालने के लिए दे दी. इतने मे टीवी पर ब्लू मूवी लगा दी, और टीवी ऑफ कर दिया.

कुछ ही देर मे वो वापिस आई और मैने उसके लिए चाय बनाने के लिए किचन मे चला गया. मैने चुपके से बाहर देखा तो मैने देखा की वो टीवी चालू करके ब्लू मूवी बड़े आराम से देख रही थी.

ये देख कर मैं समझ गया की ये साली ज़रूर आज मुझसे चुदेगि. थोड़ी देर मैं किचन मे रुका और फिर बाहर देखा तो वो लड़की अपनी पेंटी के अंदर हाथ डॉल कर अपनी चूत को मसल रही थी. मैं तभी दो ग्लास मे बियर डॉल कर बाहर आया.

मुझे आता देख उसने जल्दी से टीवी ऑफ कर दिया, और वो खुद नॉर्मल होकर बैठ गई. मैं उसकी आँखो मे आँखें डॉल कर बोला, उसने बियर देख कर वो बोली.

लड़की – ये चाय तो न्ही है ?

मैं – मेरी जान जेसा माहोल वैसी ड्रिंक.

लड़की – क्या मतलब है तुम्हारा ?

मैं – क्यो अब रगड़ लो चूत को अपनी, मैने सब कुछ देख लिया है.

लड़की – हेलो आप ही पहले ये सब देख रहे थे. जेसे ही मैने टीवी ओंन किया तो ये सब अपने आप चलने लग गया. और मैं गरम हो गई थी.

मैं – अगर आप कहो तो मैं आपको ठंडा कर दू.
मेरी ये बात सुन कर वो मुस्कुराइ और बोली – अगर कोई आ गया तो ?

मैं – रात होने से पहले यहाँ कोई न्ही आएगा.

बस ये कहते ही मैं उसके पास गया और उसके पास बैठ कर उसके होंठो को चूसने लग गया. वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थी, मेरे हाथ उसके बूब्स को मसल रहे थे. मैं ज़ोर ज़ोर से उसके बूस को मसल रहा था. इससे वो और भी जल्दी गरम होने लग गई थी.

फिर हम दोनो पूरे नंगे हो गये, वो मेरा लंड देख कर डरने लग गई. फिर मैने उसे अपने बेडरूम मे ले गया, वाहा मैने उसके पूरे जिस्म को अच्छे से चूसा. और उसकी चूत को अच्छे से चूस कर उसका सारा पानी निकाल दिया.

फिर मैने अपना लंड उसकी चूत मे डालना शुरू कर दिया. उसकी चूत बहुत टाइट थी, पर मैने जैसे तैसे करके अपना लंड उसकी चूत मे डॉल ही दिया. उसे भी बहुत दर्द हो रा था. पर थोड़ी देर के दर्द के बाद उसने बहुत मज़े किए.

मैने उसकी चूत या गांड भी शाम तक 2 बार मारी. हम दोनो ने बियर पी और फिर एक साथ नहा कर तयार हो गये. मैने जाते हुए उसे 2000 का नोट दिया और साथ ही अपना नंबर भी दे दिया.

लड़की – थॅंक्स पर आज के बाद हम कभी न्ही मिलेगें.


Leave a Reply